ममता बनर्जी ने नीति आयोग की बैठक में शामिल होने से किया इनकार कहा नीति आयोग के पास नहीं है कोई वित्तीय शक्ति

New Delhi:  पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नीति आयोग की बैठक में शामिल होने से इंकार कर दिया है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर नीति आयोग की आलोचना की है। ममता ने कहा कि ” नीति आयोग के  पास कोई शक्तियां नहीं हैं। इसके पास राज्य की योजनाओं का समर्थन करने की भी शक्ति नही है।  इस वजह से मेरा बैठक में शामिल होना बेकार है।”

आपको बता दें कि इस बार ममता बनर्जी ने पीएम के शपथ ग्रहण समारोह में भी आने से मना कर दिया था। इसके अलावा पिछले बार भी ममता ऐसी बैठकों से बहुत दूर रहती थी। जब से देश में मोदी सरकार बनी है तब से ममता दीदी बौखला गई हैं। वह लगातार भाजपा की आलोचना करने में लगी हैं।

दरअसल नीति आयोग की पहली बैठक 15 जून को होनी है। इस बैठक का संचालन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। पीएम मोदी के नेतृत्व में सत्ता संभालने के बाद सभी मुख्यमंत्री, राज्यपाल, उपराज्यपाल, केंद्रीय मंत्री और अधिकारियों की यह पहली बैठक होगी।

जानकारी मिली है कि इस बैठक में देश को सही ढंग से चलाने के लिए कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। नीति आयोग की बैठक में भाग लेने के लिए सभी मुख्यमंत्रियों सहित केंद्र शासित प्रदेशों के प्रमुखों को आमंत्रित किया गया है।

क्या है नीति आयोग

नाति आयोग का गठन योजना आयोग के स्थान पर किया गया है। यह सरकार के थिंक टैंक के रूप में कार्य करता है। यह आयोग , केंद्र और राज्य स्तर पर सरकारों को नीतियां बनाने और उन्हें सुचारू ढंग से चलाने में सहायता करता है। इसके अंतर्गत निचले स्तर की इकाइयों जैसे गांव, जिले ,राज्य की योजनाएं केंद्र के साथ बातचीत करने के बाद तैयार की जाती हैं। इसका उद्देश्य जमीनी स्तर पर योजना बनाना होता है।

The post ममता बनर्जी ने नीति आयोग की बैठक में शामिल होने से किया इनकार कहा नीति आयोग के पास नहीं है कोई वित्तीय शक्ति appeared first on Live India.